राजस्थान जैविक प्रमाणीकरण संस्था पंत कृषि भवन, जयपुर।

परिचय

राजस्थान जैविक प्रमाणीकरण संस्था (रोका) राजस्थाकन राज्य बीज एवं जैविक उत्पादन प्रमाणीकरण संस्था का अभिन्न भाग है जो राजस्था न सोसायटीज रजिस्ट्रेशन एक्ट,1958के अन्तर्गत पंजीकृत एवं स्वायतशासी संस्था है,व राज्य सरकार के अधीन कार्यरत है। राजस्थान जैविक प्रमाणीकरण संस्था राष्टीय जैविक उत्पादन कार्यक्रम के नियमानुसार जैविक प्रमाणीकरण का कार्य करती है संस्था को कृषि एवं प्रसंस्कृत खाध उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीडा) वाणिज्य एवं उधोग मंत्रालय भारत सरकार, नई दिल्ली द्वारा जैविक प्रमाणीकरण हेतु मान्यता क्रंमाक :एन.पी.ओ.पी.एन.ए.बी/0013 के तहत प्रदान की गई है। वर्तमान मे देश मे कुल 24प्रमाणीकरण संस्थाए कार्यरत है,जिसमे 7 सार्वजनिक क्षेत्र की है तथा रोका सार्वजनिक क्षेत्र की दूसरी प्रमाणीकरण संस्था है।

उददेश्य

संस्था द्वारा राष्ट्रीय जैविक प्रमाणीकरण मानको के अनुरूप उत्पादो को निरीक्षण व प्रमाणीकरण कार्य किया जाता है,जिससे प्रमाणित जैविक उत्पादो को अन्र्तराष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिलती है। संस्था जैविक उत्पादो एवं उपभोक्ताओ के बीच विश्वास तथा आपसी हितो का ध्यान रखती है। कम लागत पर विधि सम्मत प्रमाणीकरण प्रक्रिया अपनाकर प्रगतिशील कृषको के साथ-साथ छोटे,मझोले तथा कम जोते वाले व आर्थिक रूप से कमजोर कृषक भी जैविक प्रमाणीकरण करवाकर अधिकाधिक लाभ उठा सकते है।

संरचना

संस्था की संरचना एवं कार्यप्रणाली आइ.एस.ओ.65के दिशा निर्देशो के अनुरूप है जिसके सम्ास्त कर्तव्य पूर्णतया पारदर्शी,स्वतंत्र ,विश्वसनीयता तथा बिना किसी भेदभाव के सम्पादित किये जाते है।संस्था के पास पर्याप्त संसाधन ,सुदृढ आर्थिक -स्थिति एवं प्रबंधकीय क्षमता तथा उच्च तकनीकी जानकारी वाले प्रशिक्षित अधिकारी उपलब्ध है।संस्था निरन्तर गुणवत्ता सुधार करने की क्षमता रखती है तथा संस्था की नीति एवं विविध प्रशासन मे किसी प्रकार का भेदभाव नही करती है। संस्था अधिकारियो द्वारा तथा प्रमाणित उत्पादो व प्रक्रिया से सम्बन्धित किसी प्रकार की अपील/शिकायत का नियमानुसार तुरन्त निवारण करने का यथाचित प्रावधान समाहित है।

संस्था की मान्यता एवं सेवायें

जैविक प्रमाणीकरण संस्था की मान्यता निम्नाकिंत मानको के अन्तर्गत मान्य है।

  • राष्ट्रीय जैविक उत्पादन कार्यक्रम -भारत
  • ई.ई.सी.-834/2007-यूरोपियन यूनियन
  • एकल कृषक।
  • छोटे/बडे कृषक समूह।
  • सरकारी/गैर सरकारी परियोजनाऐं।

YOUR REACTION?